Value Shayari

आज कल कीमत नहीं है सच्चे प्यार में
सटे बाजी जो चल रही है बाजार में |
aaj kal keemat nahin hai sachche pyaar mein
sate baajee chal rahee hai baajaar mein…

 

इतनी मोहब्बत है करते उससे
क्यों कदर नहीं मेरे सच्चे प्यार की,
दिल को लगती है इतनी चोट
जब वो हमसे कहती है
क्यों करते हो बाते ये बेकार की |
kyon kadar nahin mere sachche pyaar kee
itanee mohabbat hai karate usse,
dil ko lagtee hai itnee chot
jab vo hamase kahatee hai
kyon karate ho baate ye bekaar kee.

 

अहमियत दी तो कोहिनूर खुद को मानने लगे,
कांच के टुकड़े भी क्या खूब वहम पालने लगे|
ahamiyat dee to kohinoor khud ko maanane lage, kaanch ke tukade bhee kya khoob vaham paalane lage.

 

किसी के लिए किसी की अहमियत ख़ास होती है,
मोहबत चाहे कितनी भी हो, लेकिन
एक के दिल की चाबी हमेशा दूसरे के पास होती है|
kisee ke lie kisee kee ahamiyat khaas hotee hai,
mohabat chaahe kitanee bhee ho, lekin
ek ke dil kee chaabee hamesha doosare ke paas hotee hai.

 

कदर नहीं होती उस चीज की
जब तक अहमियत न समज आए,
ठकुरा देते है उस चीज़ को
जो बिन मेहनत के मिल जाए |
kadar nahin hotee us cheej kee
jab tak ahamiyat na samaj aae ,
thukura dete hai us cheez ko
jo bin mehanat ke mil jae…

KADAR QUOTES IN HINDI

कुछ पाने पर लोग कितना इतराते है,
जब उसे खो देते है तब अहमियत समझ पाते है |
kuchh paane par log kitana itaraate hai, jab use kho dete hai tab ahamiyat samajh paate hai.

 

आज कल किसी को किसी की कदर नहीं है
सब झूठे प्यार का करते है दिखावा,
जब चला जाता है इंसान दूर उनसे
तो बाद मे करते है वो पश्तावा |
aaj kal koee kisee ka nahin hai
sab jhoothe pyaar ka karate hai dikhaava
jab chala jaata hai insaan door unase
to baad me karate hai vo pashtaava.

 

आज जिसने कदर नहीं करी हमारी
कल वो सब पछतायेंगे ,
लेकर सब पेन और कॉपी
जब ऑटोग्राफ मांगने आएंगे |
aaj jisane kadar nahin karee hamaaree
kal vo sab pachhataayenge ,
lekar sab pen aur copy
jab otograaph maangane aaenge.

 

जिस जगह कदर न हो
वहां कभी जाना नहीं चाहिए ,
ऐसे लोगो को समय आने पर
अपनी अहमियत सिखाना चाहिए |
jis jagah kadar na ho
vahaan kabhee jaana nahin chaahie ,
aise logo ko samay aane par
apanee ahamiyat sikhaana chaahie…

 

सच्चे प्यार की कदर करना
हर किसी के बस की बात नहीं
क्योंकि सच्चा प्यार हर कोई
नहीं कर सकता “बात कड़वी है”
sachche pyaar kee kadar karana
har kisee ke bas kee baat nahin
kyonki sachcha pyaar har koee
nahin kar sakata “baat kadvee hai.

 

सच्ची मोहब्बत में एक बात तो है
की कदर करने की आदत पड़ जाती है
लेकिन साली बाद में रुलाती बहुत है |
sachchee mohabbat mein ek baat to hai
kee kadar karane kee aadat pad jaatee hai
lekin saalee baad mein rulaatee bahut hai.

 

VALUE SHAYARI

नफ़रत के बाज़ार में प्यार की अहमियत क्या होगी,
बेवफा के लिए वफ़ा की कीमत क्या होगी,
जो मरते हो हर पल दौलत-ऐ-शान के खातिर
उस इंसा के लिए एक इंसा की कीमत क्या होगी |
nafarat ke baazaar mein pyaar kee ahamiyat kya hogee, bevapha ke lie vafa kee keemat kya hogee,
jo marate ho har pal daulat-ai-shaan ke khaatir
us insa ke lie ek insa kee keemat kya hogee…

 

कदर करो उस इंसान की
जो हर वक़्त आपकी करता है ,
ये समय बार बार नहीं आता
जो एक बार चला जाता है |
kadar karo us insaan kee
jo har vaqt aapakee karata hai
ye samay baar baar nahin aataa
jo ek baar chala jaata hai.

 

खुद की नजरों में अपनी अहमियत घट जाती है,
जब किसी को खुद से ज्यादा कदर की जाती है |
khud kee najaron mein apanee ahamiyat ghat jaatee hai,
jab kisee ko khud se jyaada kadar kee jaatee hai.

 

मोहब्बत इतनी है कि
अहमियत कम नहीं की ,
तेरे चले जाने के बाद
दिल ने किसी से मोहबत नहीं की…
mohabbat itanee hai ki
ahamiyat kam nahin kee ,
tere chale jaane ke baad
dil ne kisee se mohabat nahin kee…

 

टेढ़े-मेढ़े रास्तों पर चलकर
अहमियत मंजिल की समझ में आती है,
जो हासिल हो सरल रास्तों से
उसकी कीमत कब आंकी जाती है |
tedhe-medhe raaston par chalakar
ahamiyat manjil kee samajh mein aatee hai,
jo haasil ho saral raaston se
usakee keemat kab aankee jaatee hai…

 

जब हम किसी को ज्यादा अहमियत देते है
तो हम खुद को निचे गिरा रहे होते है |
“बात सच है “
jab ham kisee ko jyaada ahamiyat dete hai
to ham khud ko niche gira rahe hote hai..

 

value shayari