Shayari On Judai-जुदाई शायरी

जुदा होकर भी जुदा ना हो पाए,
पास होकर भी कभी मिल ना पाए |
juda hokar bhee juda na ho paye ,
paas hokar bhee kabhee mil na paye…

 

काश यह जालिम जुदाई न होती,
ऐ खुदा तूने यह मोहबत बनायी न होती,
न हम उनसे मिलते न प्यार होता,
अपनी ज़िन्दगी फिर परायी न होती।
Kash Yeh Zalim Judai Na Hoti,
Ai Khuda Tu Ne Yeh Mohabat Banayi Na Hoti,
Na Hum Unse Milte Na Pyar Hota,
Apni Zindagi Fir Parayi Na Hoti…

 

कह के आ गए उनसे कि जी लेंगे तुम्हारे बिन,
अब तो हमारा ही नहीं लगता उनके बिना मन |
kah ke aa gae unase ki jee lenge tumhaare bin,
ab to hamaara hee nahin lagata unake bina man…

 

आज जुदाई का दिन याद आया ,
आज हमारा मन भर आया |
aaj judaee ka din yaad aaya ,
aaj hamaara man bhar aaya…

 

जुदा हुए हैं बहुत से लोग एक तुम भी सही,
जीना सीख जाए गे तुम्हारे बिन मरे गे नहीं |
Juda Huye Hain Bahut Se Log Ek Tum Bhi Sahi,
Jina Seekh Jayenge Tumahre Bin Marege Nahi…

 

उनकी तस्वीर को सीने से लगा लेते है,
इस तरह जुदाई का गम उठा लेते है,
किसी तरह जो ज़िक्र हो जाए उनका,
तो हँस कर भीगी पलकें झुका लेते है।
Unki Tasveer Ko Seene Se Laga Lete Hain,
Is Tarah Judai Ka Gham Uthha Lete Hain,
Kisi Tarah Jo Zikr Ho Jaye Unka,
To Hans Kar Bhigi Palkein Jhuka Lete Hain…

 

पता नहीं था की वो आखिरी मुलाकात थी,
जब हमें ुउनो ने रात को बुलाया था |
pata nahin tha kee vo aakhiree mulaakaat thaa,
jab hamen uuno ne raat ko bulaaya tha…

 

Judai Shayari 2 Line

आओ इश्क़ का मजाक बनाए ,
दिल तोड़ कर निकल जाए |
aao ishq ka majaak banae ,
dil tod kar nikal jae…

 

जुदाई का दिन आया है ,
आज उसने हमें बहुत रुलाया है |
judai ka din aaya hai,
aaj usane hamen bahut rulaaya hai…

 

जब जुदाई से आँखे भर आयी ,
तो सोचता हूँ की सच्ची मोहबत
ही क्यों बनायीं |
jab judaee se aankhe bhar aayee ,
to sochata hoon kee sachchee mohabat
hee kyon banaayeen…

 

अब तो हर वक़्त यही बात सताती है ,
उनकी जुदाई हमें हर वक़्त रुलाती है |
ab to har vaqt yahee baat sataatee hai,
unakee judaee hamen har vaqt rulaatee hai..

 

जुदा होकर भी जुदाई नहीं होती,
इश्क उम्र कैद है प्यारे में रिहाई नहीं होती |
juda hokar bhee judaee nahin hotee ,
ishk umr kaid hai pyaare mein rihaee nahin hotee…

 

हम तो जुदा हो चुके है उनसे ,
लेकिन दिन अभी भी उन में धड़कता है|
ham to juda ho chuke hai unase,
lekin din abhee bhee un mein dhadakata hai…

 

ना अब किसी को खोने का दुःख
ना किसी को पाने की चाह,
बड़ी हिम्मत दी उसकी जुदाई ने
अब नहीं किसी को पाने की चाह |
na ab kisee ko khone ka duhkh
na kisee ko paane kee chaah,
badee himmat dee usakee judaee ne
ab nahin kisee ko paane kee chaah…

 

कितना भी चाहो ना भूल पाओगे हमें ,
जितनी दूर जाओगे नजदीक पाओगे हमें |
kitana bhee chaaho na bhool paoge hamen,
jitanee door jaoge najadeek paoge hamen…

 

कोई वादा नहीं फिर भी तुझसे प्यार है ,
जुदाई के बाद भी हमें तेरा इंतजार है |
koee vaada nahin phir bhee tujhase pyaar hai ,
judaee ke baad bhee hamen tera intajaar hai…

Dard e Judai Shayari in Hindi

आपकी याद दिल को बेकरार करती है ,
मोहब्बत मेरी आपको हर वक़्त तलाश करती है |
aapakee yaad dil ko bekaraar karatee hai ,
mohabbat meree aapako har vaqt talaash karatee hai…

 

जिंदगी कितनी खूबसूरत होती ,
अगर तू आज मेरे पास होती |
jindagee kitanee khoobasoorat hotee ,
agar too aaj mere paas hotee…

 

तुम्हारा दुःख हम सह नहीं सकते ,
तेरे बिन हम रह नहीं सकते ,
हमारे गिरते हुए आंसूओ को पढ़ कर देखो ,
वो भी कहते है की हम आपके बिना रह नहीं सकते |
tumhaara duhkh ham sah nahin sakate ,
tere bin ham rah nahin sakate ,
hamaare girate hue aansooo ko padh kar dekho,
vo bhee kahate hai kee ham aapake bina rah nahin sakate…

 

खूबसूरत है जिंदगी ख्वाब की तरह ,
जाने कब टूट जाये कांच की तरह ,
मुझे ना भूलना किसी बात की तरह ,
अपने दिल में ही रखना एक याद की तरह |
khoobasoorat hai jindagee khvaab kee tarah
jaane kab toot jaaye kaanch kee tarah ,
mujhe na bhoolana kisee baat kee tarah,
apane dil mein hee rakhana ek yaad kee tarah…

SHAYARI ON JUDAI