Mere Pyar Ki Kadar Nahi Shayari – मेरे प्यार की कदर नहीं शायरी

इतनी मोहब्बत है करते उससे
क्यों कदर नहीं मेरे सच्चे प्यार की,
दिल को लगती है इतनी चोट
जब वो हमसे कहती है
क्यों करते हो बाते ये बेकार की |
kyon kadar nahin mere sachche pyaar kee
itanee mohabbat hai karate usse,
dil ko lagtee hai itnee chot
jab vo hamase kahatee hai
kyon karate ho baate ye bekaar kee.

की थी मोहब्बत हमने कोई सौदा नहीं किया था
उसने नहीं की कदर क्योंकि उसने तो पैसा देखकर
हमसे प्रेम किया था |
kee thee mohabbat hamane koee sauda nahin kiya tha
usane nahin kee kadar kyonki usane to paisa dekhakar
hamase prem kiya tha.

( mere pyar ki kadar nahi )

इस दुनिया में आपके प्यार की वो लोग कभी कदर नहीं करेंगे
जो लोग सिर्फ आपको जर्रूरत पड़ने पर ही याद करते है|
is duniya mein aapake pyaar kee vo log kabhee kadar nahin karenge
jo log sirph aapako jarroorat padane par hee yaad karate hai.

काश उसकी मेने कदर की होती
आज वो किसी और की नहीं सिर्फ मेरी होती |
kaash usakee mene kadar kee hotee
aaj vo kisee aur kee nahin sirph meree hotee.

Tujhe Kadar Nahi Meri – उसको मेरी कदर नहीं

उसको हमारी कदर नहीं और
कितना हमको तड़पाओगे
अगर ऐसा ही चलता रहा
तो एक दिन हमें भी अपने हाथो से गवाओगे |
usako hamaaree kadar nahin aur
kitana hamako tadapaoge
agar aisa hee chalata raha
to ek din hamen bhee apane haatho se gavaoge.

आज कल किसी को किसी की कदर नहीं है
सब झूठे प्यार का करते है दिखावा,
जब चला जाता है इंसान दूर उनसे
तो बाद मे करते है वो पश्तावा |
aaj kal koee kisee ka nahin hai
sab jhoothe pyaar ka karate hai dikhaava
jab chala jaata hai insaan door unase
to baad me karate hai vo pashtaava.

कोई बात नहीं अगर आपको हमारी कदर नहीं
जिस दिन हो जायेगा पश्तावा आपको
कसम खुदा की आप रोयेंगी वही |
koee baat nahin agar aapako hamaaree kadar nahin
jis din ho jaayega pashtaava aapako
kasam khuda kee aap royengee vahee.

Sache Pyar Ki Kadar Shayari

पता नहीं की आज कल लोग क्यों किसी
के जज़्बातो की कदर नहीं करते, कितने पत्थर है
ये लोग अगर कोई इतना कर रहा, उसकी भावनाओ
को ठेस पहुंचाने का बिलकुल ख्याल नहीं करते |
pata nahin kee aaj kal log kyon kisee
ke jazbaato kee kadar nahin karate,
kitane patthar hai ye log agar koee
itana kar raha, usakee bhaavanao
ko thes pahunchaane ka bilakul khyaal nahin karate.

सच्चे प्यार की कदर करना
हर किसी के बस की बात नहीं
क्योंकि सच्चा प्यार हर कोई
नहीं कर सकता “बात कड़वी है”
sachche pyaar kee kadar karana
har kisee ke bas kee baat nahin
kyonki sachcha pyaar har koee
nahin kar sakata “baat kadvee hai”

सच्ची मोहब्बत में एक बात तो है
की कदर करने की आदत पड़ जाती है
लेकिन साली बाद में रुलाती बहुत है |
sachchee mohabbat mein ek baat to hai
kee kadar karane kee aadat pad jaatee hai
lekin saalee baad mein rulaatee bahut hai.

सच्ची मोहब्बत की कदर पहले प्यार के बाद ही पता चलती है |
sachchee mohabbat kee kadar pahale pyaar ke baad hee pata chalatee hai.

(mere pyar ki kadar nahi)