Bichadna Shayari – Bichadna Status

जिस पल तुझको गले लगाएंगे
बस वही पल हम हसकर बितायेंगे |
jis pal tujhako gale lagaenge
bs vahee pal ham hasakar bitaayenge.

 

नफरत नहीं है तुजसे
लेकिन मोहबत भी नहीं है
बिछड़ने का दुःख है तुजसे,
अब मिलने की चाहत भी
नहीं है तुजसे |
napharat nahin hai tujase
lekin mohabat bhee nahin hai
bichhadane ka duhkh hai tujase,
ab milane kee chaahat bhee
nahin hai tujase…

 

तुम बिछड़न बिछड़न कहती है
बिछड़े तो जी नहीं पाएंगे |
tum bichhadan bichhadan kahatee hai
bichhade to jee nahin paenge…

 

जब उसने बिछड़ने की बात की
बहुत दर्द हुआ इस सीने में,
सच के दूँ अब वो मज़ा
नहीं है जीने में |
jab usane bichhadane kee baat kee
bahut dard hua is seene mein,
sach ke doon ab vo maza
nahin hai jeene mein…

 

भूल चुके होंगे वो
बार बार ये बात ख्याल में आती है,
बिछडने की बात भी
उनकी याद हमें आज भी सताती है |
bhool chuke honge vo
baar baar ye baat khyaal mein aatee hai ,
bichhadane kee baat bhee
unakee yaad hamen aaj bhee sataatee hai…

 

उससे बिछड़ना मेरी किस्मत में लिखा है
मेने इस ठोकर से बहुत कुछ सीखा है,
हो सकता है खुदा ने कोई और अच्छा ढूंढ रखा हो
शायद खुदा ने मेरी किस्मत ये सब ही लिखा है |
usase bichhadana meree kismat mein likha hai
mene is thokar se bahut kuchh seekha hai,
ho sakata hai khuda ne koee aur achchha dhoondh rakha ho
shaayad khuda ne meree kismat ye sab hee likha hai…

bichadna dosti shayari

दोस्तों का प्यार किसी.
दुआ से कम नहीं होता,
बिछड़ जाए अगर दोस्त
उससे दुःख कम नहीं होता |
doston ka pyaar kisee.
dua se kam nahin hotaa,
bichhad jae agar dost
usase duhkh kam nahin hota..

 

आज बहुत उदास हूँ आज बिछड़ गया है
एक दोस्त मुझसे, आ वापिस लोट आ
मांगता हु माफ़ी हाथ जोड़ कर तुजसे |
aaj bahut udaas hoon aaj bichhad gaya hai
ek dost mujhase, aa vaapis lot aa
maangata hu maafee haath jod kar tujase..

 

कभी कभी महसूस होता है
की मेरे दोस्त मेरे पास है,
पता नहीं क्यों वो मुझसे
इतना निराश है |
kabhee kabhee mahasoos hota hai
kee mere dost mere paas hai ,
pata nahin kyon vo mujhase
itana niraash hai…

 

देकर दोस्ती की कसम
आज ही वो हमसे दूर है ,
पता नहीं यारी तोड़ने के
लिए क्यों वो मज़बूर है |
dekar dostee kee kasam
aaj hee vo hamase door hai,
pata nahin yaaree todane ke
lie kyon vo mazaboor hai…