Mahadev Ki Shayari – Mahakal –
Bholenath Shayari

किसी की ना चले जब लेते है  हम उनका नाम ,
सिर झुका कर करते है हम अपने भोले बाबा को परनाम |
kisee kee na chale jb lete hai  ham unaka naam ,
sir jhuka kar karate hai ham apane bhole baaba ko paranaam…

 

हमारे सामने झुक जाता है काल ,
भक्तों की हमेशा सुनते है महाकाल |
hamaare saamane jhuk jaata hai kaal ,
bhakton kee hamesha sunate hai mahaakaal…

 

मृत्यु से वो डरे जो डरता है काल से ,
मृत्यु से हम नहीं डरते,
हम भक्त है महाकाल के |
mrtyu se vo dare jo darata hai kaal se ,
mrtyu se ham nahin darate,
ham bhakt hai mahaakaal ke…

 

जिन्दगी की है ख़ुशी लेकिन मौत का नहीं है गम,
जब तक हैं दम महाकाल के भक्त रहेंगे हम |
jindagee kee hai khushee lekin maut ka nahin hai gam,
jab tak hain dam mahaakaal ke bhakt rahenge ham…

 

महाकाल शायरी | Mahakal Shayari

भस्म हो जाओ गए मत लेना पंगा,
महाकाल के भक्त है कर देंगे दंगा |
bhasm ho jao gae mat lena panga,
mahaakaal ke bhakt hai kar denge danga…

 

महादेव की सेवा में रहता हु सदा त्यार ,
वो दरबार भी कोई जन्नत से कम नही
जहाँ बरस रहा है मेरे महाकाल का प्यार |
mahaadev kee seva mein rahata hu sada tyaar ,
vo darabaar bhee koee jannat se kam nahee
jahaan baras raha hai mere mahaakaal ka pyaar…

 

तुजसे दिन शुरू होता है लेके तेरा नाम ,
मेरे महादेव को मेरा साक्षात परनाम |
tujase din shuroo hota hai leke tera naam ,
mere mahaadev ko mera saakshaat…

 

आज आये है तेरे दर पे ,
खाली हाथ नहीं जायँगे ,
माँगा नहीं कभी तुमसे ,
ये हक़ कभी नहीं जिताएंगे ,
महादेव का प्यार निराला ,
कुछ न कुछ लेकर ही वापस”
आएंगे |
aaj aaye hai tere dar pe ,
khaalee haath nahin jaayange ,
maanga nahin kabhee tumase ,
ye haq kabhee nahin jitaenge ,
mahaadev ka pyaar niraala ,
kuchh na kuchh lekar hee vaapas
aaenge…

महादेव शायरी हिंदी | Mahadev Ki Shayari

किसी से नहीं भय है मुझको ,
में हूँ बहुत खुशकिस्मत वाला,
डरता नहीं डराने वालो से
देवों के देव है महादेव मेरा रखवाला |
kisee se nahin bhay hai mujhako ,
mein hoon bahut khushakismat vaala,
darata nahin daraane vaalo se
devon ke dev mahaadev hai mera rakhavaala…

 

मैं कौन हूँ न पूछो पहचान मेरी ,
मैं हूँ उस डमरू वाले का पुजारी |
main kaun hoon na poochho pahachaan meree,
main hoon us damaroo vaale ka pujaaree…

 

खुल चुका हैं नेत्र तीसरा, शिव शंभू त्रिकाल का,
इस युग में वो ही बचेगा, जो भक्त हो महाकाल का |
khul chuka hain netr teesara, shiv shambhoo trikaal ka,
is yug mein vo hee bachega, jo bhakt ho mahaakaal ka…

 

महादेव की कृपा है हम पे,
हमसे जो टकराएगा वो चूर चूर हो जायेगा |
mahaadev kee krpa hai ham pe ,
hamase jo takaraega vo choor choor ho jaayega…

 

Bholenath Shayari

सबसे बड़ा तेरा दरबार ,
तू ही सब का पालनहार
सजा दे या माफी महादेव,
तू ही हमारी सच्ची सरकार |
sabase bada tera darabaar ,
too hee sab ka paalanahaar
saja de ya maaphee mahaadev,
too hee hamaaree sachchee sarakaar…

 

जब उदास होता हे ये मन ,
तो भोले बाबा को याद कर ,
“relax”हो जाता है तन |
jab udaas hota he ye mn ,
to bhole baaba ko yaad kar ,
“relax” ho jaata hai tn…

 

जब किसी मुसीबत में होता है ,
महादेव के चरणों में होता हूँ ,
हाथ पकड़ निकल लेते है मुसीबत से
जिस मुसीबत में मै होता हूँ |
jab kisee museebat mein hota hai ,
mahaadev ke charano ma hota hoon ,
haath pakad nikal lete hai museebat se
jis museebat mein mai hota hoon…

 

शेरो वाली दहाड़ फ़िर सुनाने आए हैं,
आग उगाल कर दुश्मन जलाने आये हैं ,
रास्ता भी छोड़ दिया उस काल ने,जब
देखा उसने “महाकाल” के दीवाने आए हैं…
shero vaalee dahaad fir sunaane aae hain ,
aag ugaal kar dushman jalaane aaye hain ,
raasta bhee chhod diya us kaal ne,
jab dekha usane “mahaakaal” ke deevaane aae hain…

 

सपना था गाड़ी लेने का
हद से बढ़कर दे दिया,
आज भोले बाबा ने
Audi का टॉप मॉडल मुझको दे दिया |
sapana tha gaadee lene ka
had se badhakar de diya ,
aaj bhole baaba ne
Audi ka top modal mujhako de diya…

jai shankar

 

BHOLENATH KI SHAYARI