Bhai Ke Liye Shayari | Bhai Ke Liye Dua Shayari

किसी का चाहिए नहीं साथ ,
जब बड़े भाई को हो सर पे हाथ |
kisee ka chaahie nahin saath ,
jab bade bhaee ko ho sar pe haath…

 

कही पढ़ ना जाए गलत कामो में
उसने जोर से चपट लागई है,
वो और नहीं कोई वो मेरा बड़ा भाई है |
kahee padh na jaye galat kaamo ma
usne jor se chpat laagaee hai,
vo aur nahin koee vo mera bada bhaee ha.

 

लड़ जाए जो हर किसी से
वो है मेरा पूरा संसार,
आंच न आने दे इस छोटे भाई पर
ये है मेरे बड़े भाई का प्यार |
lad jaye jo har kisee se
vo hai mera poora sansaar,
aanch na aane de is chhote bhaee par
ye hai mere bade bhaee ka pyaar.

 

बचपन के वो दिन जब में रोता
तो मुझको वो हसांता था,
गलती करता था में लेकिन मेरी खातिर
माँ बाबू जी से डांट मेरा बड़ा भाई खाता था |
bachapan ke vo din jab mein rota
to mujhako vo hasaanta tha,
galatee karata tha mein
lekin meri khatir maa baaboo jee se daant
mera bada bhaee khaata tha.

 

 

ज़िंदगी के हर इक काम के लिए
मेरे भाई ने मुझको सपोर्ट किया है,
भटक ना जाओ अपनी मंज़िल से में
भाई ने हर पल मुझको मोटिवटी किया है |
zindagee ke har ik kaam ke lie
mere bhaee ne mujhako saport kiya hai,
bhatak na jao apni manzil se ma
bhai ne har pal mujko motivatee kiya hai.

 

Bhai Bhai Shayari

पास नहीं तो क्या हुआ,
ये मेरा नसीब है
जान से भी करता है प्यार मुझको
मेरा भाई सदा मेरे दिल के करीब हैं।
paas nahin to kya hua,
ye mera naseeb hai
jaan se bhee karata hai pyaar mujhako
mera bhaee sada mere dil ke kareeb hain.

 

मेरी वो हिम्मत है, मेरा वो सहारा है,
करता है आदर उसका मेरा
भाई मुझे मेरी जान से भी प्यारा है।
meree vo himmat hai, mera vo sahaara hai,
karata hai aadar usaka
mera bhaee mujhe meree jaan se bhee pyaara hai…

 

जब कोई भी देता नहीं मेरा साथ,
उस वक़्त सिर्फ बड़े भाई का होता है
सर पे मेरे हाथ |
jab koee bhee deta nahin mera saath,
us vaqt sirph bade bhaee ka hota hai
sar pe mere haath…

 

जब में उदास जाओ मुझको हँसाने
की कोशिश पूरी करता है,
जब में नाराज़ हो जाओ मुझको
मानाने की कोशिश पूरी करता है |
jab mein udaas jao mujhako hansaane
kee koshish pooree karata hai ,
jab mein naaraaz ho jao mujhako
maanaane kee koshish pooree karata hai.

 

प्यार मोहब्बत में जिस से
एक अलग ही रिश्ता है,
वो भाई बस भाई नहीं वो
एक अलग ही फ़रिश्ता है।
pyaar mohabbat mein jis se
ek alag hee rishta hai,
vo bhaee bas bhaee nahin vo
ek alag hee farishta hai.

Bhai Ke Liye Dua Shayari

मांगी है दुआ उस रब से ,
वो मेरा भाई अलग है सब से |
maangee hai dua us rab se ,
vo mera bhaee alag hai sab se…

 

ऐ खुदा ऐसा भाई सब का हो ,
चोट मुझे लगे और दुःख उसको हो |
ai khuda aisa bhaee sab ka ho ,
chot mujhe lage aur duhkh usako ho…

 

लग जाए ये उम्र उस भाई को
उसने मेरे लिए बहुत कुश किया है,
एहसान नहीं मोड़ सकता में उसका
कभी जो सब उसने मुझको दिया है |
lag jae ye umr us bhaee ko
usane mere lie bahut kush kiya hai,
ehasaan nahin mod sakata mein usaka
kabhee jo sab usane mujhako diya hai.

 

फूल हो या तारे हो
मेरा भाई है सबसे नायरा,
आंच न आये कभी उस पर
मेरा भाई है मुझको सबसे प्यारा |
phool ho ya taare ho
mera bhaee hai sabase naayara,
aanch na aaye kabhee us par
mera bhaee hai mujhako sabase pyaara.

 

दुआ करता हु उस भाई के लिए
दिन और रात, मेरा भाई सदा
सलामत रहे कभी न आये उस पर आंच |
dua karata hu us bhaee ke liYe
din aur raat, mera bhaee sada
salaamat rahe kabhee na aaye us par aanch.

 

शुक्रगुजार हूँ उस खुदा का
जो मैंने ऐसी किस्मत पायी है,
भगवान जैसे है माता-पिता
और फ़रिश्ते जैसा भाई है |
shukragujaar hoon us khuda ka
jo mainne aisee kismat paayee hai,
bhagavaan jaise hai maata-pita
aur farishte jaisa bhaee hai…

 

Bhai Bhai Ke Liye Shayari

जब दो भाई साथ हो जाते ,
तो दुश्मन को भी मात पा जाते है |
jab do bhaee saath ho jaate ,
to dushman ko bhee maat pa jaate hai…

 

बेशक हर वक्त भाई मुझको सताता है ,
पर मुसीबत के वक़्त साथ खड़ा हो जाता है|
beshak har vakt bhaee mujhako sataata hai,
par museebat ke vaqt saath khada ho jaata hai…

 

मेरे हाथों की लकीरें बहुत ख़ास हैं,
तभी तो तेरे जैसा भाई हमारे पास हैं|
mere haathon kee lakeeren bahut khaas hain,
tabhee to tere jaisa bhaee hamaare paas hain…

 

माँ देती है लाड और पापा अनुशासन सिखाते है,
लेकिन खुल के कैसे है जीना,
भाई हमें सिखाते हैं |
maan detee hai laad aur paapa anushaasan sikhaate hai,
lekin khul ke kaise hai jeena,
bhaee hamen sikhaate hain…

 

भाई ने मुझे बचपन में खूब सीताया ,
पर जब मैं मुसीबत में था तो
भाई ने ही हौसला बढ़ाया |
bhaee ne mujhe bachapan mein khoob seetaaya ,
par jab main museebat mein tha to
bhaee ne hee hausala badhaaya…

 

दिल के जज्बात और बड़े हो जाते हैं,
जब मुसीबत के समय भाई साथ खड़े हो जाते हैं |
dil ke jajbaat aur bade ho jaate hain,
jab museebat ke samay bhaee saath khade ho jaate hain.

BHAI KE LIYE SHAYARI-भाई के लिए शायरी